Saturday, March 28, 2020

science topics,MCQ Question in hindi

science topics,MCQ Question in hindi
1. आवर्त सारणी में आवर्तो की संख्या - 7
2. आवर्त सारणी में वर्गो की संख्या - 18
3. आवर्त सारणी की कुल गैसो की संख्या - 11
4. सबसे भारी धातु - ओस्मियम
5. सबसे हल्की धातु - लीथियम
6. सबसे अधिक गैसो वाला वर्ग - 18 वा वर्ग या शून्य वर्ग
7. सबसे भारी गैस - रेडॉन
8. वायुमण्डल में नहीं पायी जाती - रेडॉन
9. अक्रिय गैसों में मुक्त इलैक्ट्रॉनों की संख्या - शून्य
10. आवर्त सरणी में सबसे क्रियाशील अधातु - फ्लोरीन
11. सर्वाधिक आयनन वाला तत्व - हीलियमफ 
12. न्यूनतम आयनन विभव वाला तत्व - सीजियम
13. विधुत का सुचालक अधातु - ग्रेफाइट
14. पौधो के पर्ण में पाया जाने वाला धातु तत्व - मैग्नीशियम
15. आवर्त सारणी में सार्वधिक बंधुता वाला तत्व - क्लोरीन 
16. आधुनिक आवर्त सारणी की खोज की - मोजले ने
17. सबसे कमजोर बल होता है - गुरुत्वाकर्षण बल
18. सबसे मजबूत बल होता है - नाभिकीय बल
19. सांस की दुर्गन्ध को जाना जाता है - हैलिटोसिस
20. तांबा का अयस्क होता है - मेलेकाइट 
21. आधुनिक आवर्त सारणी में गैर धातुओं की संख्या - 20 
22. आधुनिक आवर्त सारणी में धातुओं की संख्या - 91
23. लैंथेनॉइड्स तत्वों की संख्या - 14
24. एक्टेनाइड्स तत्वों की संख्या - 14
25. लैंथेनॉइड्स किस ब्लॉक से सम्बंधित है - F ब्लॉक से
26. लैंथेनम किस ब्लॉक से सम्बंधित है - D ब्लॉक से
27. एक्टिनाइड्स किस ब्लॉक से सम्बंधित है - F ब्लॉक से
28. एक्टीनियम किस ब्लॉक से सम्बंधित है - D ब्लॉक से
29. पारे की परमाणु संख्या - 80
30. सोने Ag की परमाणु संख्या - 79 
31. लेड Pb की परमाणु संख्या - 82 
32. संक्रमण धातु कहा जाता है - D ब्लॉक तत्वों को
33. बेकिंग पाउडर मिश्रण है - बेकिंग सोड़ा +टार्टरिक अम्ल
34. PH का पता लगाया - शॉरेन्सन ने 
35. क्विक सिल्वर कहा जाता है - मर्करी को
36. सोल्डर या रांगा मिश्रधातु है - शीशा और टिन
37. सीमेंट में होता है - ट्राई कैल्सियम सिलिकेट
38. ब्लीचिंग पाउडर की प्रकृति होती है - आक्सीकारक अभिकर्मक
39. धातु और अधातु में किसने बांटा - लेवोजियर ने
40. त्रिक नियम किसने दिया - डोबेराइनर ने
41. अष्टक नियम किसने दिया - न्यूलैंड्स ने
42. मेंडलीव की आवर्त सारणी में तत्वों की संख्या - 63 
43. तत्वों को परमाणु द्रव्यमान के आधार पर रखा - मेंडलीव ने
44. आवर्त सारणी का जनक कहा जाता है - मेंडलीव को
45. न्यूलैंड्स का अष्टक नियम किस तत्व तक लागू होता है - कैल्सियम तक
46. सबसे अच्छा अघातवर्ध्य धातु - सोना 
47. सबसे अधिक तन्यता वाला धातु - सोना 
48. विधुत ऊष्मा का सबसे अच्छा चालक - चाँदी
49. अधातु जो द्रव है - ब्रोमीन 

50. धातुओं का गलनांक सामान्यता होता है - उच्च 
51. सबसे कम गलनांक वाली धातु - गैलियम और सीजियम
52. चाकू से काटी जा सकने वाली धातु - सोडियम , लिथियम , पोटैशियम
53. कम घनत्व की वजह से पानी पर तैरने वाली धातु - सोडियम , लिथियम , पोटैशियम
54. धातुओं का घनत्व अधिक होता है - सोडियम , लिथियम , पोटैशियम को छोड़कर
55. जब कॉपर को वायु की उपस्थिति में गर्म किया जाता है तो यह आक्सीजन के साथ मिलकर काले रंग का पदार्थ बनाता है जो कहलाता है - क्युप्रिक आक्साइड
56. अत्यंत अधिक ताप पर भी आक्सीजन के साथ अभिक्रिया नही करते है - सोना और चाँदी 
57. एल्युमिनियम पर मोटी आक्साइड की परत बनने की प्रक्रिया को क्या कहते है जो इसे संरक्षण से भी बचाती  है - एनोडीकरण
58. साधारणतः धातु +तनु अम्ल अभिक्रिया कर बनाते है - लवण 
59. प्रबल आक्सीकारक है - नाइट्रिक अम्ल
60. धातुए किससे अभिक्रिया करके हाइड्रोजन गैस उत्सर्जित नहीं करती है - नाइट्रिक अम्ल
61. सोना और प्लेटिनम को गला सकता है - अम्लराज या एकवारजिया
62. किस धातु को उसके अयस्क से वायु में गर्म करके प्राप्त किया जा सकता है - Hg मरकरी 
63. जब सल्फाइड अयस्क को वायु की उपस्थिती में अधिक ताप पर गर्म किया जाता है तो यह आक्साइड में            परिवर्तित  हो जाता है इस प्रक्रिया को कहते है - भर्जन 
64. धातु के आक्साइड से धातु को प्राप्त करने के लिए किसका उपयोग अपचायक के रूप में होता है - कार्बन 
65. खुली वायु में कुछ दिन छोड़ देने पर सिल्वर की वस्तुए काली हो जाती है उनकी सतह पर किसकी परत बन        जाती है - सिल्वर सल्फाइड 

66. आवर्त सारणी में दुर्लभ मृदा धातुओं की संख्या -  17
67. सामान्यतः आवर्त सारणी में बाये से दाये जाने पर आयनीकरण ऊर्जा - बढ़ती है 
68. आवर्त सारणी में न्यूनतम आयनीकरण ऊर्जा होती है - सीजियम की
69. आवर्त सारणी में अधिकतम आयनीकरण ऊर्जा होती है - हीलियम की
70. आवर्त सारणी में बाये से दाये जाने पर विद्युतऋणात्मकता - बढ़ती है 

Saturday, March 21, 2020

विभिन्न यंत्रो एवं उपकरणों के आविष्कारक

विभिन्न यंत्रो एवं उपकरणों के आविष्कारक
उपकरण                  आविष्कारक 

बैरोमीटर -                ई टोरसेली
बाईसिकल -             के. मैकमिलन
कम्प्यूटर -                चाल्स बैवेज
मशीन गन -             सर जेम्स पकल
पनडुब्बी -               डेविड बुसनेल
वाशिंग मशीन -       हार्ले मशीन कम्पनी
ट्रांसफार्मर -            माइकल फैराडे
थर्मामीटर -             डेनियल गैब्रियल फॉरेनहाइट
ट्रांजिस्टर -              जॉन बरडीन, विलियम शाकले
टाइपराइटर -          पेलग्रीन टेरी
टेलीविजन -            जे. एल. बेयर्ड
टेलीफोन -              ग्राम बेल
टैंक -                     सर अर्नेस्ट स्विटन
सौर मण्डल -          कॉपरनिकस
थर्मस फ्लास्क -      डेवार
लिफ्ट -                  इलिसा ओटिस
लेसर -                   थियोडर मेमैन
रिवाल्वर -              सैमुअल कोल्ट
रबर फोम -            डनलप रबर कम्पनी
रेफ्रिजरेटर -           हैरिसन व टिनिंग
सेफ्टिलैम्प -            हम्फ्रे डेवी
स्टीम इंजन -           जेम्स वाट
स्टील -                    हेनरी बेसेमर
सेफ्टी पिन -            वालटर हंट
नायलॉन -               डॉ. वालेस कैरायर्स
लाउडस्पीकर -       होरेस शार्ट
ग्रामोफोन -             थॉमस अल्वा एडीसन
ग्लाइडर -               जार्ज कैले
गैल्वेनोमीटर -         एंड्रे मेरी एम्पियर
फाउण्टेनपेन -        लेविस वाटरमैन
डायनेमो -              माइकल फैराडे
डीजल इंजन -        रुडोल्फ डीजल
घड़ी (पेंडुलम ) -    क्रिशचियन ह्यूगेंस
क्रेस्कोग्राफ -         जे. सी. बोस
डायोड वाल्व -       सर जे. एस. फ्लेमिंग
ट्रायोड वाल्व -       डॉ. ली. डी. फारेस्ट
डायनामाइट -        एल्फ्रेड नोबेल
नाभिकीय रिएक्टर - एनरिको फर्मी
परमाणु बम -           ऑटोहान
परमाणु -                 जॉन डॉल्टन
इलेक्ट्रॉन -               जे. जे. थामसन
रेडियम -                 मैडम क्यूरी
रेडियो ऐक्टिवता -    हेनरी बेकुरल
रमन प्रभाव -           सी. वी. रमन
एक्स किरणे -          विल्हेम रॉन्जन
प्रकाश विधुत प्रभाव - अल्बर्ट आइस्टीन
तापायनिक उत्सर्जन - एडीसन 

Wednesday, March 18, 2020

मानव रोग एवं उससे प्रभावित अंग/ human diseases

मानव रोग एवं उससे प्रभावित अंग/ human diseases
                                      मानव रोग (Human Diseases)
विषाणुओ (Virus) द्वारा
रोग का नाम              प्रभावित अंग
चेचक -                     सम्पूर्ण शरीर विशेषकर चेहरा तथा हाथ पैर
खसरा -                     सम्पूर्ण शरीर (विशेषकर बच्चो में होता है )
ट्रेकोमा -                    नेत्र
हर्पीस -                      त्वचा श्लेष्मकला
रेबीज हाइड्रोफोबिया - तंत्रिका तंत्र
फ्लू या इन्फ्लुएंजा -       श्वसन तंत्र
गलसुआ -                   पेरोटिड लार ग्रंथिया
पोलियो -                     तंत्रिका तंत्र
एड्स -                        सम्पूर्ण शरीर
डेंगू -                           सम्पूर्ण शरीर में हड्डी तोड़ बुखार

जीवाणुओं (Bacteria) द्वारा

निमोनिया -                    फेफड़े
टिटनेस -                       तंत्रिका तंत्र तथा माँसपेशिया
हैजा -                            आँत या आहार नाल
डिप्थीरिया -                   श्वास नली
काली खासी -                 श्वसन तंत्र
सिफिलिस -                    जनन  अंग, मस्तिष्क, तंत्रिका तंत्र
प्लेग -                            फेफड़े , लाल रुधिर कणिकाएँ
मेनिन्जाइटिस -               मतिष्क के ऊपर की झिल्लिया , मस्तिष्क
 मियादी बुखार -             आंत का रोग
कुष्ठ (कोढ़ ) -                 त्वचा तथा तंत्रिकाएँ
क्षय रोग -                      शरीर का कोई भी अंग , विशेषकर फेफड़े

प्रोटोजोआ (Protozoa) द्वारा  

पायरिया -                      दांतो की जड़े तथा मसूड़े
दस्त व् आमातिसार -      बड़ी आंत
पेचिश -                        आंत के अगले भाग
मलेरिया -                     लाल रुधिराणु , प्लीहा , यकृत

कवक(fungal) द्वारा

एथलीट  फुट -                त्वचा
दमा -                             फेफड़े
दाद -                             त्वचा
खाज -                            त्वचा

शरीर की बीमारियाँ : एक दृष्टि में  

ट्रेकोमा -                        गुर्दे , आँख
डायबिटीज -                  अग्नाशय
घेंघा -                             थाइराइड ग्रंथि , गला
पर्किसन -                       मस्तिष्क
निमोनिया -                      फेफड़े
टाइफाइड -                    आंत
रिकेटस -                        हड्डिया
सिफिलिस -                    जनन अंग
दस्त -                             बड़ी आंत
काला जार-                      रुधिर , अस्थिमज़्ज़ा
मेनिन्जाइटिस -                रीढ़ की हड्डी तथा मस्तिष्क
पीलिया -                         यकृत
डिप्थीरिया -                    श्वास  नली और गला
हेपेटाइटिस बी -              यकृत

Monday, March 16, 2020

विश्व के प्रमुख देशों की राजधानी और मुद्रा

विश्व के प्रमुख देशों की राजधानी और मुद्रा
                                  विश्व के प्रमुख देशों की राजधानी और मुद्रा                                             

                                                                           
देश                            राजधानी                                      मुद्रा

भारत                          नई दिल्ली                                      रूपया
नेपाल                          काठमांडू                                       रूपया
मॉरीशस                      पोर्ट लुईस                                      रूपया
पाकिस्तान                   इस्लामाबाद                                    रूपया

बांग्लादेश                     ढाका                                             टका
चीन                              बीजिंग                                         युआन
श्री लंका                       कोलम्बो                                        रूपया
ईरान                            तेहरान                                         रियाल
इराक                            बग़दाद                                       दीनार
यमन                             साना                                          रियाल
सिंगापुर                         सिंगापुर                                      डॉलर
सऊदी अरब                  रियाद                                         रियाल
सीरिया                           दमिश्क                                       पाउंड
फिलीपींस                       मनीला                                         पीसो
ओमान                           मस्कट                                         रियाल
हांगकांग                          विक्टोरिया                                  डॉलर
साइप्रस                           निकोसिया                                   पाउंड
ब्रूनेई                                 बंदरसेरी                                    डॉलर
जापान                                टोक्यो                                       येन
मकाऊ                              मकाऊ                                      पटाका
दक्षिण कोरिया                    सियोल                                      वॉन
उत्तर कोरिया                       प्योंगप्यांग                                वॉन
कतर                                   दोहा                                       रियाल
जार्डन                                  अम्मान                                    दीनार
इजराइल                               जेरुसलम                                न्यू शेकेल
तुर्की                                     अंकारा                                    लीरा
किर्गिस्तान                            बिश्केक                                  सोम
ताइवान                                ताइपे                                      डॉलर
सयुक्त अरब अमीरात            अबुधाबी                                 दिरहम
थाईलैंड                                 बैंकॉक                                   बहत
वियतनाम                               हनोई                                   डॉन्ग
कुबैत                                      कुबैत सिटी                           दीनार
लेबनान                                   बेरुत                                    पाउंड
मलेशिया                                  कुआलालंपुर                         रिंगिट
मंगोलिया                                 उलानबटोर                           तुगरिक
बहरीन                                    मनामा                                   दीनार
इंडोनेसिया                              जकार्ता                                  रुपिया
रूस                                      मास्को                                     रूबल
पोलैंड                                   वारसा                                      जलोती
युआन                                    एथेंस                                        ड्राचमा
फ़्रांस                                       पेरिस                                       फ्रैंक
हंगरी                                      बुडापेस्ट                                   फ्रोरिंट
नाइजीरिया                                लागोस                                    नैरा
डेनमार्क                                   कोपेनहेगन                               क्रोन
यूक्रेन                                         कीव                                      हिरविनिया
जर्मनी                                       बर्लिन                                     ड्यूश मार्क
ब्राजील                                      ब्राजीलिया                               रिएल
सयुक्त राज्य अमेरिका                वाशिंगटन                              डॉलर
जमैका                                       किंग्स्टन                                 डॉलर
गुयाना                                        मालाबो                                   फ्रैंक
कनाडा                                      ओटावा                                  डॉलर
क्यूबा                                         हवाना                                     पीसो

Sunday, March 15, 2020

डॉप्लर प्रभाव/ Doppler's Effect


1.   डॉप्लर प्रभाव(Doppler's Effect in Sound)

जब कोई ध्वनि स्रोत अपने स्थान पर स्थिर रहते हुए ध्वनि उत्पन्न करता है तो उससे कुछ दुरी पर खड़े श्रोता को उसी आवृत्ति की सुनाई देती है जिस आवृति की ध्वनि स्रोत से उत्पन्न होती है परन्तु जब ध्वनि स्रोत अथवा श्रोता अथवा दोनों गति की अवस्था में होते है तो श्रोता को ध्वनि की आवृति बदली हुयी प्रतीत होती है यदि इस गति के फलस्वरूप स्रोत तथा श्रोता के बीच की दूरी घट रही है तो श्रोता को स्रोत की आवृति बढ़ी हुयी प्रतीत होती है इसके विपरीत यदि उनके बीच की दूरी बढ़ रही है तो श्रोता को आवृति घटी हुई प्रतीत होगी
"स्रोत तथा श्रोता की सापेक्ष गति के कारण स्रोत की आवृति में होने वाले आभासी परिवर्तन को डॉप्लर प्रभाव कहते है "

उदाहरण : जब हम प्लेटफार्म पर खड़े होते है तथा दूर से सीटी देता हुआ इंजन प्लेटफार्म की और आता है तो हमे सीटी की ध्वनि तीक्ष्ण अर्थात ऊंची आवृति की प्रतीत होती है परन्तु जब इंजन प्लेटफार्म को पार करके दूर जाता है तो वही ध्वनि हमे मोटी अर्थात नीची आवृति की प्रतीत होती है

डॉप्लर प्रभाव के अनुप्रयोग : डॉप्लर प्रभाव का उपयोग वायु में उड़ते विमान के वेग का अनुमान लगाने में किया जाता है रेडार स्टेशन से वायु में उड़ते विमान कीओर रेडार तरंगे भेजी जाती है तथा विमान से परावर्तित होकर लौटने वाली तरंगे स्टेशन पर प्राप्त की जाती है यदि विमान रेडार स्टेशन स्टेशन की और आ रहा है तो विमान से परावर्तित रेडार तरंगो की आवृति बढ़ जाती है और यदि वह स्ततिओ से दूर जा रहा है तो परावर्तित तरंगो की आवर्ती घट जाती है स्टेशन से विमान की और भेजी गयी तथा विमान से स्टेशन पर प्राप्त की गयी तरंगो कीआवृति के अंतर से विमान के वेग की गणना की जा सकती है ठीक इसी प्रकार जल के भीतर चलती पनडुब्बी का वेग ज्ञात किया जा सकता है इस प्रकार की गणनाओ का युद्ध के दिनों में बहुत महत्त्व होता है