Saturday, September 15, 2018

श्यानता क्या है

Shyanta or shyan bal kya hai
श्यानता

श्यान बल(viscous force): 

किसी द्रव या गैस की दो क्रमागत परतों के बीच उनकी अपेक्षित गति का विरोध करने वाले घर्षण बल को श्यान बल कहते है।

श्यानता(viscosity):

 तरल का वह गुण जिसके कारण तरल की विभिन्न पर्तो के मध्य अपेक्षित गति का विरोध होता है अनुदैर्ध्य तरंगे कहलाता है।
●श्यानता केवल द्रवों तथा गैसों का गुण है।
●द्रवों की श्यानता अणुओ के बीच लगने वेक संसंजक बल के कारण होती है।
●गैसों में श्यानता इसकी एक परत से दूसरी परत में अणुओ के स्थानांतरण के कारण होती है।
●गैसों में श्यानता द्रवों की तुलना में बहुत कम होती है ठोसों में श्यानता नही होती।
●एक आदर्श तरल की श्यानता शून्य होती है।
●ताप बढ़ाने पर द्रवों की श्यानता घट जाती है परंतु गैसों की बढ़ जाती है।
●किसी तरल की श्यानता को श्यानता गुणाक द्वारा मापा जाता है इसका S.I  मात्रक डेकापाइज या पाइजली या पास्कल सेकंड है।

0 comments: